BREAKING NEWS
ख़बरें सबसे तेज़

ख़बरें सबसे तेज़ (49)

home page

Latest News

बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत ने किया सुसाइड, मुंबई में अपने घर में लगाई फांसी

Sunday, 14 June 2020 11:25 Written by

बॉलीवुड से एक बहुत ही चौंकाने वाली खबर सामने आई है. मशहूर एक्टर सुशांत सिंह राजपूत ने मुंबई में अपने घर में फांसी लगाकर जान दे दी है.

 

बॉलीवुड से एक बहुत ही चौंकाने वाली खबर सामने आई है. मशहूर एक्टर सुशांत सिंह राजपूत ने मुंबई में अपने घर में फांसी लगाकर जान दे दी है. वे 34 साल के थे. सुशांत बॉलीवुड के बेहद लोकप्रिय एक्टर थे. रिपोर्ट्स के अनुसार, सुशांत के कुछ दोस्त भी उनके घर पर थे. उनके कमरे के दरवाजे को जब तोड़ा गया तो रूम में सुशांत फांसी के फंदे से लटके पाए गए. पुलिस की रिपोर्ट के अनुसार, वे पिछले छह महीनों से डिप्रेशन से गुजर रहे थे.

उन्होंने अपने करियर की शुरुआत टीवी एक्टर के तौर पर की थी. उन्होंने सबसे पहले 'किस देश में है मेरा दिल' नाम के धारावाहिक में काम किया था पर उन्हें पहचान एकता कपूर के धारावाहिक पवित्र रिश्ता से मिली. इसके बाद उनका फिल्मों का सफर शुरु हुआ था. वे फिल्म काय पो छे में लीड एक्टर के तौर पर नजर आए थे, और उनके अभिनय की तारीफ भी हुई थी.


धोनी की बायोपिक साबित हुई थी सुशांत के लिए टर्निंग प्वॉइंट

 

इसके बाद वो शुद्ध देसी रोमांस में वाणी कपूर और परिणीति चोपड़ा के साथ दिखे थे. हालांकि उन्होंने सबसे ज्यादा चर्चा भारतीय टीम के पूर्व कप्तान एम एस धोनी का किरदार निभा कर बटोरी थी. नीरज पांडे द्वारा निर्देशित एम एस धोनी की बायोपिक सुशांत के करियर की पहली फिल्म थी जिसने सौ करोड़ का कलेक्शन किया था. सुशांत इसके अलावा फिल्म सोनचिड़िया और छिछोरे जैसी फिल्मों में नजर आ चुके थे. उनकी आखिरी फिल्म केदारनाथ थी जिसमें वे सारा अली खान के साथ दिखे थे. सुशांत की अपकमिंग फिल्म किजी और मैनी थी. इस फिल्म का कुछ समय पहले फर्स्ट लुक भी रिलीज हुआ था.

 

 

अरविंद केजरीवाल का कोरोना टेस्ट निगेटिव, आज सुबह हुई थी जांच

Tuesday, 09 June 2020 15:10 Written by

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के कोरोना वायरस टेस्ट की रिपोर्ट निगेटिव आई है. मंगलवार सुबह उनकी जांच कराई गई थी. उनकी तबीयत बिगड़ने के बाद कोरोना संक्रमण की जांच कराई गई थी जो निगेटिव आई है.

 

 


बुखार व कफ की शिकायत के बाद की गई जांचजांच में कोरोना वायरस की रिपोर्ट निगेटिव आई
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के कोरोना वायरस टेस्ट की रिपोर्ट निगेटिव आई है. मंगलवार सुबह उनकी जांच कराई गई थी. उनकी तबीयत बिगड़ने के बाद कोरोना संक्रमण की जांच कराई गई थी जो निगेटिव आई है.

बता दें कि सोमवार को ही ये खबर सामने आई की दिल्ली के मुख्यमंत्री को बीते दिन से ही कुछ दिक्कत आ रही है. जिसके बाद उन्होंने खुद को सेल्फ आइसोलेशन में रख लिया है. साथ ही उनकी सभी बैठकें रद्द कर दी गई हैं. सोमवार को तय हुआ कि मंगलवार को अरविंद केजरीवाल का कोरोना वायरस टेस्ट कराया जाएगा. मंगलवार को टेस्ट हुआ जिसकी रिपोर्ट निगेटिव आई है.

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को बीते दो दिन से हल्का बुखार और गले में खराश की शिकायत है. इसके बाद उनकी कोरोना वायरस की जांच कराई गई. सोमवार दोपहर से उनकी सारी मीटिंग कैंसिल कर दी गई और मुख्यमंत्री ने किसी से मुलाकात नहीं की. उन्होंने अपने आपको आइसोलेट कर लिया है. इसके बाद आधिकारिक बैठक में उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया शामिल हुए.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

अरविंद केजरीवाल की तबीयत को लेकर जैसे ही खबरें आईं, उसके बाद उनके स्वास्थ्य को लेकर कई नेताओं ने चिंता व्यक्त की. दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नए अध्यक्ष आदेश गुप्ता और पुराने दोस्त कुमार विश्वास ने केजरीवाल के जल्द स्वस्थ होने की कामना की. वहीं केजरीवाल ने अपनी सारी मीटिंग कैंसिल कर दी और खुद को आइसोलेट कर लिया. दूसरी ओर, दिल्ली में कोरोना ने रफ्तार तेज कर दी है. करीब 29 हजार मरीज अब तक राजधानी में संक्रमित हो चुके हैं, जबकि मौत का आंकड़ा आठ सौ के पार जा चुका है. ऐसे में दिल्ली सरकार ने दावा किया है कि अगले 15 दिनों में बेड की संख्या डबल कर दी जाएगी.

दिल्ली में 31 जुलाई तक होंगे साढ़े पांच लाख केस, चाहिए होंगे 80 हजार बेडः सिसोदिया

Tuesday, 09 June 2020 08:41 Written by

डीडीएमए की बैठक के बाद दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा कि जिस रफ्तार से संक्रमण बढ़ रहा है, उससे लगता है कि 30 जून तक 15 हजार बेड की जरूरत होगी और 31 जुलाई तक 80 हजार बेड की जरूरत होगी. 31 जुलाई तक 5 लाख से अधिक केस हो सकते हैं.

 

 

 

दिल्ली में 31 जुलाई तक होंगे साढ़े पांच लाख केस, चाहिए होंगे 80 हजार बेडः सिसोदिया

डीडीएमए की बैठक के बाद दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा कि जिस रफ्तार से संक्रमण बढ़ रहा है, उससे लगता है कि 30 जून तक 15 हजार बेड की जरूरत होगी और 31 जुलाई तक 80 हजार बेड की जरूरत होगी. 31 जुलाई तक 5 लाख से अधिक केस हो सकते हैं.

दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया
 

 

  • डिजास्टर मैनेजमेंट की बैठक की खत्म
  • सिसोदिया ने उठाया फैसला पलटने का मामला
  • एलजी ने 3 बजे बुलाई सर्वदलीय बैठक

दिल्ली में कोरोना के कम्युनिटी स्प्रेड के खतरे को लेकर उपराज्यपाल अनिल बैजल की अगुवाई में मंगलवार को डीडीएमए की बैठक हुई. इस बैठक में डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया और स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन मौजूद रहे. बैठक के मनीष सिसोदिया ने कहा कि अगर इसी तरह केस बढ़ते रहे तो 31 जुलाई तक पांच लाख से अधिक कोरोना केस हो जाएंगे.

इस बैठक में शामिल होने के बाद डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा, 'मैंने दिल्ली के अस्पतालों को सभी मरीजों के लिए खोलने का मामला उठाया और एलजी साहब से पूछा कि आखिरी सरकार के फैसले को क्यों पलटा गया. इस पर राज्यपाल साहब कोई जवाब नहीं दे पाएं.'

डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा, 'एलजी के फैसले से दिल्लीवालों के सामने संकट खड़ा हो गया है. जिस रफ्तार से संक्रमण बढ़ रहा है, उससे लगता है कि 30 जून तक 15 हजार बेड की जरूरत होगी और 31 जुलाई तक 80 हजार बेड की जरूरत होगी. 31 जुलाई तक 5 लाख से अधिक केस हो सकते हैं.'

3 बजे होगी सर्वदलीय बैठक

डिजास्टर मैनेजमेंट की बैठक के बाद उपराज्यपाल अनिल बैजल ने दोपहर 3 बजे सर्वदलीय बैठक बुलाई है. इस बैठक में कोरोना के मौजूदा हालात और इसे रोकने के उपायों पर चर्चा की जाएगी. इस बैठक में आम आदमी पार्टी, भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के नेता शामिल हो सकते हैं.

उपराज्यपाल ने बदला केजरीवाल का आदेश

सीएम अरविंद केजरीवाल के अस्पतालों में सिर्फ दिल्ली वालों के इलाज वाले आदेश को अभी 24 घंटे ही हुए थे कि राजधानी के सुपर बॉस यानी उपराज्यपाल ने फरमान पलट दिया. एलजी अनिल बैजल ने मुख्यमंत्री के आदेश पर रोक लगा दी. उपराज्यपाल ने दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी के चेयरमैन की हैसियत से सीएम के फैसले पर वीटो लगाया.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

 

अब दिल्ली के अस्पतालों में सभी लोगों का इलाज होगा यानि बाहर से आने वाले भी जगह खाली होने पर दिल्ली के सरकारी अस्पतालों में इलाज करा सकेंगे. इधर उपराज्यपाल ने फैसला बदला, उधर दिल्ली सरकार खफा हो गई. सीएम केजरीवाल ने तुरंत ट्वीट कर इसे दिल्ली वालों के लिए नई मुसीबत बताया

देश-दुनिया के किस हिस्से में कितना है कोरोना का कहर? यहां क्लिक कर देखें

सीएम अरविंद केजरीवाल ने लिखा, 'एलजी साहब के आदेश ने दिल्ली के लोगों के लिए बहुत बड़ी समस्या और चुनौती पैदा कर दी है. देशभर से आने वाले लोगों के लिए कोरोना महामारी के दौरान इलाज का इंतजाम करना बड़ी चुनौती है. शायद भगवान की मर्जी है कि हम पूरे देश के लोगों की सेवा करें. हम सबके इलाज का इंतजाम करने की कोशिश करेंगे.'

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

आम आदमी पार्टी के इस गुस्से को बीजेपी सांसद गौतम गंभीर ने और भड़का दिया है. गंभीर ने तंज कसते हुए ट्वीट किया, 'दिल्ली सरकार के दूसरे राज्यों के मरीजों का इलाज नहीं करने के मूर्खतापूर्ण आदेश को खत्म करने के लिए एलजी का उत्कृष्ट कदम! भारत एक है और हमें मिलकर इस महामारी से लड़ना है! इंडिया फाइट अगेंस्ट कोरोना.'

कोरोना के मामले में चीन से आगे निकला महाराष्ट्र, मरीजों का आंकड़ा 85 हजार पार

Sunday, 07 June 2020 16:21 Written by

कोरोना वायरस के मरीजों के मामले में महाराष्ट्र अब चीन से भी आगे निकल चुका है. महाराष्ट्र में एक दिन में तीन हजार से ज्यादा कोरोना वायरस के मरीजों की पुष्टि हुई है. इसके साथ ही महाराष्ट्र में अब कोरोना वायरस के 85975 मरीजों की पुष्टि हो चुकी है.

 

 

कोरोना वायरस के मरीजों के मामले में महाराष्ट्र अब चीन से भी आगे निकल चुका है. महाराष्ट्र में एक दिन में तीन हजार से ज्यादा कोरोना वायरस के मरीजों की पुष्टि हुई है. इसके साथ ही महाराष्ट्र में अब कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या 85 हजार के पार हो चुकी है.

 

महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के 3007 नए मरीजों की पुष्टि हुई है. इसके साथ ही महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या 85975 हो चुकी है. कोरोना वायरस चीन के वुहान से फैलना शुरू हुआ था. हालांकि चीन में कोरोना वायरस का संक्रमण लगभग कंट्रोल हो चुका है और अब तक 83036 केस ही आए हैं.

 

वहीं महाराष्ट्र में कोरोना के कारण होने वाली मौत का आंकड़ा तीन हजार के पार हो चुका है. महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के कारण 91 लोगों की मौत हुई है. इसके साथ ही राज्य में अब तक कोरोना वायरस के कारण 3060 लोगों की मौत हो चुकी है.

Popular News

विरोध प्रदर्शन में तेजस्वी यादव के साथ उनके भाई तेजप्रताप…
कोरोना वायरस के मरीजों के मामले में महाराष्ट्र अब चीन…
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को सभी जिलों के डीएम,…

NEWS FLASH: दिल्ली में कल से खुलेंगे धार्मिक स्थल, मॉल और रेस्टोरेंट, होटल पर पाबंदी जारी

Sunday, 07 June 2020 06:46 Written by

दिल्ली सरकार ने बड़ा फैसला किया है. अब दिल्ली में दिल्ली सरकार और प्राइवेट अस्पतालों में केवल दिल्ली के निवासियों का इलाज होगा. जबकि दिल्ली में स्थित केंद्र सरकार के अस्पतालों में सभी का इलाज होगा.

 

 

दिल्ली सरकार ने बड़ा फैसला किया है. अब दिल्ली में दिल्ली सरकार और प्राइवेट अस्पतालों में केवल दिल्ली के निवासियों का इलाज होगा. जबकि दिल्ली में स्थित केंद्र सरकार के अस्पतालों में सभी का इलाज होगा. कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर दिल्ली कैबिनेट ने यह फैसला लिया है.

 

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को इसका ऐलान किया. मुख्यमंत्री ने कहा कि जून के अंत तक 15 हजार कोरोना के मरीजों के लिए बेड की जरूरत होगी. एक्सपर्ट कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर सरकार ने ये फैसला लिया है कि दिल्ली सरकार के अस्पतालों में सिर्फ दिल्ली के लोगों का इलाज होगा.

 

 

इसी के साथ दिल्ली से बाहर के सभी लोगों के लिए बॉर्डर खोल दिए जाएंगे. मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि कल से दिल्ली में रेस्टोरेंट, मॉल्स और धार्मिक स्थल खोले जाएंगे, लेकिन सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना सबको अनिवार्य है.

कल से खुलेंगे मंदिर-मस्जिद, सीएम योगी का आदेश- गाइडलाइंस का हो पालन

Sunday, 07 June 2020 02:20 Written by

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को सभी जिलों के डीएम, एसपी से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बात की और 8 जून से शुरू हो रही गतिविधियों के लिए जारी गाइडलाइंस का अनुपालन सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए.

 

 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को सभी जिलों के जिलाधिकारियों (डीएम), पुलिस अधीक्षक (एसपी) और मेडिकल कॉलेज के प्राचार्यों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बात की. मुख्यमंत्री ने 8 जून से शुरू होने जा रही गतिविधियों के लिए सरकार की ओर से जारी गाइडलाइंस का अनुपालन सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए.

सीएम योगी ने कहा कि धार्मिक और पूजा स्थलों, कार्यालयों, मॉल, होटल और रेस्टोरेंट के संचालन को लेकर सरकार की ओर से जारी गाइडलाइंस का जिला प्रशासन और संबंधित अधिकारी अध्ययन कर अनुपालन सुनिश्चित कराएं. उन्होंने कहा कि इसके लिए धर्मगुरुओं, होटल एसोसिएशंस के पदाधिकारियों से बात की जाए.

 

मुख्यमंत्री ने न्यायालयों की सुरक्षा, सैनिटाइजेशन और आने वालों की स्क्रीनिंग का इंतजाम करने के भी निर्देश दिए और साथ ही यह भी कहा कि निगरानी समितियों को भी सक्रिय रखा जाए. जिलाधिकारी और नोडल अधिकारी निरंतर समीक्षा करें. मुख्यमंत्री ने जिलों में रोजगार सृजन के लिए भी अधिकारियों को निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि 15 जून से प्रत्येक जिले में प्रतिदिन 1 से 1.5 लाख रोजगार सृजन की कार्यवाही सुनिश्चित की जाए.

 

 

सीएम योगी ने कहा कि रोजगार का सृजन प्रधानमंत्री के विशेष आर्थिक पैकेज के प्रावधानों के तहत किया जाए. उन्होंने कहा कि राज्य में भरण-पोषण भत्ते का लाभ प्रभावित लोगों को व्यापक स्तर पर उपलब्ध कराया गया. मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने लॉकडाउन में सामने आई चुनौतियों का तत्परता और प्रभावी ढंग से सफलतापूर्वक समाधान किया.

 

 

गौरतलब है कि लॉकडाउन के कारण उद्योग व्यापार बंद होने से बड़ी तादाद में प्रवासी यूपी लौटे हैं. सरकार के दावों के मुताबिक इनकी तादाद 27 लाख से अधिक है. मुश्किल घड़ी में अपने गृह राज्य लौटे इन प्रवासियों को रोजगार उपलब्ध कराना भी बड़ी चुनौती मानी जा रही है. दूसरी तरफ, दो महीने से भी अधिक चले लॉकडाउन के बाद अब देश में अनलॉक 1.0 की शुरुआत हो गई है.

 

 

कोरोना वायरस से संक्रमण के लगातार बढ़ते मामलों के बीच कंटेनमेंट एरिया छोड़कर उद्योग-व्यापार के साथ ही परिवहन सेवाओं की शुरुआत हो चुकी है. 8 जून से धार्मिक स्थलों के साथ ही होटल, रेस्टोरेंट, शॉपिंग मॉल भी शुरू हो रहे हैं. ऐसे में व्यावसायिक और अन्य गतिविधियों के संचालन के साथ कोरोना पर नियंत्रण पाना सरकारों के लिए भी आसान नहीं.

 

 

 

 

 

बिहार में बीजेपी की चुनावी तैयारी शुरू, अमित शाह आज करेंगे पहली वर्चुअल रैली

Sunday, 07 June 2020 01:42 Written by

केंद्रीय गृह मंत्री और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के पूर्व अध्यक्ष अमित शाह रविवार को अपनी पार्टी के लिए बिहार में पहली वर्चुअल रैली 'बिहार जनसंवाद' को संबोधित करेंगे. हालांकि यह रैली पूरी तरह से ऑनलाइन होगी और अमित शाह के साथ-साथ कार्यकर्ता भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से इसमें शामिल होंगे. बता दें, कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए सरकार ने किसी भी तरह के जुटान पर पाबंदी लगाई है. लिहाजा अब चुनाव प्रचार जैसे काम भी वर्चुअल ही किए जा रहे हैं.

 

 

बिहार में इस साल अक्टूबर या नवंबर में विधानसभा चुनाव कराए जा सकते हैं. अमित शाह की इस ऑनलाइन रैली को बिहार में बीजेपी के चुनाव प्रचार के आगाज के रूप में देखा जा रहा है. बिहार में राष्ट्रीय जनता दल ने चुनावी तैयारी कुछ दिन पहले ही शुरू की है. इसी क्रम में हाल में तेजस्वी यादव ने बस रैली निकाली थी. हालांकि ऑनलाइन रैली के लिहाज से देखें तो बीजेपी ने यह काम सबसे पहले शुरू किया है. डिजिटल माध्यम से हो रहे इस तरह के पहले कार्यक्रम को बीजेपी हर तरह से कामयाब बनाने में जुटी है, वहीं इसे लेकर कार्यकर्ताओं में भी उत्साह देखा जा रहा है.

 

 

इस रैली को लेकर प्रदेश बीजेपी मुख्यालय में खास इंतजाम किया जा रहा है. कार्यक्रम का संचालन पटना से ही होगा. इस दिन मुख्यालय में प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल, उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी सहित सभी वरिष्ठ नेताओं के रहने की संभावना है. फिलहाल बिहार में बीजेपी का मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के साथ गठबंधन है. अमित शाह पहले ही कह चुके हैं कि विधानसभा चुनाव नीतीश कुमार की अगुआई में लड़ा जाएगा. यही बात बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा भी दोहरा चुके हैं.

 

बीजेपी की बड़ी तैयारी

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह की वर्चुअल रैली को सफल बनाने के लिए बिहार बीजेपी प्रभारी भूपेंद्र यादव और बीजेपी के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष शुक्रवार को पटना पहुंचते ही एक्टिव हो गए. बीजेपी नेता नंद किशोर यादव के सरकारी आवास पर भूपेंद्र यादव और बीएल संतोष पार्टी नेताओं के साथ रणनीति बनाने में जुट गए हैं. बीजेपी ने अमित शाह की वर्चुअल रैली को 'बिहार जनसंवाद' नाम दिया है. बिहार के सभी विधानसभा क्षेत्रों के बूथों पर इस रैली का प्रसारण किया जाएगा. बिहार-जनसंवाद कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए पार्टी के सांसदों, विधायकों, प्रदेश पदाधिकारियों, जिला प्रभारियों, विधानसभा प्रभारियों और पूर्व प्रत्याशियों को जिम्मेदारी दी गई है.

अमित शाह की वर्चुअल रैली को सुनने के लिए वॉट्सऐप, फेसबुक, एसएमएस, ट्विटर, टेलीग्राम के जरिए बीजेपी के वरिष्ठ नेता, पदाधिकारियों, जिलाध्यक्षों, मंडल अध्यक्षों के साथ ही बूथ अध्यक्षों को रैली का लिंक भेजने का काम शुरू हो गया है. बीजेपी फॉर बिहार लाइव के माध्यम से 72 हजार बूथों के अलावा 45 जिलों के 9547 शक्ति केंद्र, 1099 मंडलों में बीजेपी कार्यकर्ता अमित शाह का संबोधन सुनेंगे.

सुशील मोदी ने दी थी जानकारी

ऑनलाइन रैली के बारे में अभी हाल में प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा था कि इस बात की संभावना कम ही नजर आती है कि चुनावों में राजनीतिक दल हेलिकॉप्टर से प्रचार करें या फिर बड़ी-बड़ी रैलियों का आयोजन करें. सुशील मोदी ने कहा था कि बिहार में होने वाले चुनाव में राजनीतिक दल ज्यादा से ज्यादा डिजिटल माध्यम से वोट मांगते नजर आएंगे. उन्होंने कहा कि राजनीतिक पार्टियां लोगों से मोबाइल और टेलीविजन के जरिए वोट की अपील करती दिख सकती हैं. उन्होंने कहा था कि बिहार में राजनीतिक दल डोर-टू-डोर कैंपेन का सहारा लेंगे और ज्यादा से ज्यादा ऑडियो और वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मतदाताओं से जुड़ेंगे.

 

 

 

 

जेडीयू ने सुशील कुमार मोदी के उस विचार को काल्पनिक बताया था, जिसमें उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के दौर में आगामी बिहार विधानसभा चुनाव डिजिटल तरीके से होगा. जेडीयू ने कहा है कि कोविड-19 महामारी के बीच देश में डिजिटल गतिविधि में काफी बढ़ोतरी देखने को मिली है मगर बिहार में इसी साल के अंत में होने वाले चुनाव डिजिटल तरीके से होंगे, ऐसा कहना फिलहाल काल्पनिक है.

 

 

जेडीयू प्रवक्ता राजीव रंजन ने कहा, "कोविड-19 काल में डिजिटल गतिविधियां देश में काफी बढ़ी हैं और ऐसे में बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव में भी परंपरागत तौर पर होने वाली रैलियां और हेलिकॉप्टर के इस्तेमाल में बदलाव की गुंजाइश हो सकती है. सुशील मोदी ने जो कहा है वह फिलहाल एक काल्पनिक स्थिति है मगर चुनाव आयोग को कई तरह के बदलाव के लिए खुद को तैयार करना पड़ेगा."

 

 

 

जेसिका लाल हत्याकांड के दोषी मनु शर्मा को तिहाड़ जेल से रिहा किया गया

Tuesday, 02 June 2020 10:31 Written by

Jessica Lal Murder Case: जेसिका लाल हत्याकांड में उम्रकैद की सजा काट रहे मनु शर्मा (Manu Sharma) को सोमवार को तिहाड़ जेल (Tihar Jail) से रिहा कर दिया गया. 

                           

नई दिल्ली: 

Jessica Lal Murder Case: जेसिका लाल हत्याकांड में उम्रकैद की सजा काट रहे मनु शर्मा (Manu Sharma) को सोमवार को तिहाड़ जेल (Tihar Jail) से रिहा कर दिया गया. बता दें कि दिल्ली सजा समीक्षा बोर्ड ने जेसिका

लाल हत्याकांड में उम्रकैद की सजा काट रहे मनु शर्मा की समय से पहले रिहाई की सिफारिश की थी. बता दें कि सजा समीक्षा बोर्ड के पास मनु शर्मा का नाम 6वीं बार आया था और इस बार दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल

ने रिहाई पर मुहर लगा दी है. मनु शर्मा (Manui Sharma) को दिल्ली की तिहाड़ जेल से 18 अन्य कैदियों के साथ सोमवार को रिहा किया गया.